7 हज़ार रुपए के अंदर 9 बेहतरीन ट्रेकिंग शूज़ (Trekking Shoes Buying Guide)

आप अपने ट्रेक का आनंद लेते समय सूजे हुए पैर या टखने में मोच नहीं चाहते हैं, है ना? फिर ट्रेकिंग शू में निवेश करना एक अच्छा विचार है।

ट्रेकिंग शूज़ टखने की बेहतर सुरक्षा, अच्छी पकड़, सांस लेने की क्षमता और कर्षण प्रदान करते हैं। और वे यात्रा के लिए आपके प्यार को देखते हुए एक अच्छा निवेश हैं। तो, अगली बार जब आप अपने नए खरीदे गए ट्रेकिंग शूज़ के साथ पहाड़ की चोटी पर हों और कोई चोट न लगे, तो आप वास्तव में ये जवानी है दीवानी से रणबीर के संवाद को महसूस कर सकते हैं।

आजकल ट्रेकिंग करने का एक चलन सा हो गया है। खासकर युवावर्ग एडवेंचर्स में ज्यादा रुचि ले रही है। इसलिए, जब ट्रेकिंग की बात आती है तो अच्छी गुणवत्ता वाले ट्रेकिंग जूते होना अनिवार्य है।

इसलिए तो आज, मैं आपको कुछ बेहतरीन ट्रेकिंग शूज़ के बारे में बताऊंगा – पहनने में आसान, आरामदायक और टिकाऊ, जो आपके कारनामों को यादगार बना देंगे।



सूचना: इस पोस्ट में कुछ लिंक हो सकते हैं। जब आप उनके माध्यम से कुछ खरीदते हैं या कोई बुकिंग करते हैं तो हमें वित्तीय सहायता मिलती हैं। वे किसी भी तरह से हमारी राय या यहां प्रस्तुत जानकारी को प्रभावित नहीं करते हैं।

ट्रेकिंग शूज़ ख़रीदने से पहले इन 6 चीजों का रखें खास ध्यान

ट्रेकिंग शूज़ लेने से पहले आपको कुछ चीजों का विषेश रूप से ध्यान देना चाहिए। 

1. जलवायु या मौसम

जलवायु या मौसम बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह सुनिश्चित करने के लिए सलाह दी जाती है कि यदि आप गर्म या शुष्क इलाके वाले वातावरण में ट्रेकिंग कर रहे हैं तो कम टखने ( लो ऐंकल ) वाले जूते का चयन करना चाहिए। यदि जलवायु ठंडी है तो ट्रेकिंग के लिए ज्यादा टखने वाले ( हाई ऐंकल ) वाले जूते उचित  हैं।

7 हज़ार के अंदर वाले 9 बेहतरीन ट्रेकिंग शूज़

आपको ट्रेकिंग ट्रेल का प्रकार पता होना चाहिए जिससे आपको जूते चुनने में मदद मिले और पूरे ट्रेकिंग का अनुभव सुखद हो।

2. ट्रेकिंग शूज़ का वजन

ट्रेकिंग शूज़ का चुनाव करते समय ध्यान रखने वाली पहली बात यह है कि जूते का वजन मायने रखता है। ट्रेकिंग शूज़ की एक हल्की जोड़ी चुनें जो अत्यधिक सहायक हो और उसकी अच्छी पकड़ हो।

आमतौर पर हल्के जूतों की ही सलाह दी जाती है क्योंकि वास्तव में, ट्रेकिंग करते समय यह आपके लिए सहायक होगा यदि आप एक भारी भार ले जा रहे हैं। ऐसी स्थितियों में, एक ट्रेकिंग बूट जिसमें ऊंचा टखना होता है एक अच्छा, बेहतर विकल्प है।

3. टखने (ऐंकल) की सुरक्षा

अगली बात यह है कि ट्रेकिंग जूतों द्वारा की पेशकश की टखने की सुरक्षा है जिसे आप चुनने की योजना बना रहे हैं। यदि आपको उबड़-खाबड़ इलाकों में ट्रेकिंग करने की संभावना है, तो यह एक जरूरी विशेषता है। ट्रेकिंग जूते में तीन प्रकार के टखने संरक्षण पाए जाते हैं: कम कट ( लो ऐंकल) मध्य कट (मिड ऐंकल ) और उच्च कट ( हाई ऐंकल ) ।

एक कम कट ट्रेकिंग जूता अपेक्षाकृत सपाट इलाके पर एक दिन के ट्रेक के लिए अच्छा है लेकिन पर्वत ट्रैकिंग के लिए आदर्श नहीं है। इसलिए, यदि आप एक बहु-दिवसीय ट्रेक के लिए ट्रेकिंग शूज़ की तलाश कर रहे हैं, तो कम कट वाले जूतों की उपेक्षा करें।

एक मिड-कट ट्रेकिंग जूता बहु-दिवसीय ट्रेक के लिए उपयोगी है, लेकिन काफी हद तक इलाके और ट्रेक पथ पर निर्भर करता है। यदि यह एक मध्यम ट्रेक है तो मध्य-कट जूते ठीक काम करेंगे।

सबसे अच्छे ट्रेकिंग शूज़ में से एक है हाई कट ट्रेकिंग शूज़ जो ट्रेकिंग करते समय सबसे अधिक सपोर्ट और ग्रिप प्रदान करते हैं। वे बहु-दिवसीय ट्रेक के लिए एकदम सही हैं और रिश्तेदार आराम से सभी प्रकार के ट्रेकिंग इलाकों को संभाल सकते हैं।

आप बिना किसी ब्रेक के दिन में कम से कम 6-7 घंटे के लिए अपने ट्रेकिंग शूज़ में चलेंगे। तो, आपको अपने आराम को भी ध्यान में रखना होगा। ट्रैकिंग जूते की एक अच्छी तरह से गद्देदार जोड़ी के लिए जाएं जो आपकी एड़ी और टखने को सुरक्षा प्रदान करेगा और चलने पर असहज नहीं होगा।

इसके अलावा, अपने ट्रेकिंग शूज़ में एयर कुशनिंग देखें जो आपकी एड़ी की सुरक्षा में बहुत अच्छा होगा और बाद में एक दर्दनाक एड़ी की संभावना को खत्म कर देगा।

4. ट्रेकिंग शूज़ के आकार और फिटनेस

ट्रेकिंग जूते की एक जोड़ी की तलाश में विचार करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीजों में से एक आपके ट्रेकिंग जूते का आकार और फिटनेस है। आपके जूते आरामदायक महसूस करने चाहिए और ट्रेक के अंत तक पैर में छाले नहीं होने चाहिए।

5. टिकाऊ और आरामदायक

आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आपके जूते टिकाऊ और आरामदायक हों। यह हमेशा एक नंबर बड़ा खरीदने की सलाह दी जाती है जो आपके वास्तविक जूते के आकार से एक आकार बड़ा हो।

सुनिश्चित करें कि आप ट्रेक के लिए आरामदायक और गद्दीदार हैं और सही जूते का आकार निर्धारित करने में अपना समय लें जो आपके लिए फिट रहें।

6. जलरोधक ट्रेकिंग शूज़ (वॉटरप्रूफ)

जलरोधक ट्रेकिंग शूज़

अंत में, सुनिश्चित करें कि आप वाटरप्रूफ ट्रेकिंग शूज़ खरीदते हैं क्योंकि कई बार आप जलधाराओं और झरनों केआसपास आएँगे जिन्हें आपको पार करना होगा।आपके जूते और मोज़े सूखने में कई दिन लग सकते हैं यदि वे गीले हों और धूप न हो ।

इसके अलावा, यदि आप एक स्नो ट्रेक की योजना बना रहे हैं तो यह एक आवश्यक विशेषता है अन्यथा आप शीतदंश या निमोनिया होने का जोखिम हैं। हां, ट्रेकिंग शूज़ की एक वाटरप्रूफ जोड़ी पर थोड़ा अधिक खर्च होगा लेकिन लंबे समय में यह अत्यधिक उपयोगी होगा।

ट्रेकिंग शूज़ का वर्गीकरण

हर एक चीज़ का बारीकी से निरीक्षण करने के बाद मैंने कुछ बेहतरीन जूतों को दाम के हिसाब से तीन भागों में बांटा है। 

  • ₹2000-3000 तक
  • ₹ 3000-5000 तक
  • ₹ 5000-7000 तक

वर्ग 1 – ₹2000-3000 तक

वाइल्डक्राफ्ट मेन्स ट्रेल

फ़ायदेनुकसान
आकर्षक डिजाइनजलरोधक ( वॉटरप्रूफ ) ना होना
टिकाऊ और आरामदायक
कम वजन
अच्छी पकड़
हर तरह के रास्तों के लायक

रेडचीफ मेन्स लेदर बूट

फ़ायदेनुकसान
बहुत हल्काजलरोधक ( वॉटरप्रूफ ) ना होना
सुंदर डिजाइन
काफ़ी अच्छी पकड़
काफ़ी मजबूत

रेडचीफ मेन्स लेदर हाइकिंग एंड ट्रेकिंग शूज़

फ़ायदेनुकसान
अत्यधिक मजबूत जलरोधक ( वॉटरप्रूफ ) ना होना
टिकाऊ और आरामदायक
तीन रंगों में उपलब्ध
काफ़ी हल्का
स्थिर और सुरक्षित

वर्ग 2 – ₹ 3000-5000 तक

वाइल्डक्राफ्ट मेन्स ह्यूगो शूज़

फ़ायदेनुकसान
हाई ऐंकलजलरोधक ( वॉटरप्रूफ ) ना होना
दिखने में मजबूत और आकर्षकथोड़ा भारी
टिकाऊ
हर तरह के रास्तों के लायक
अच्छी पकड़

क्वेशुआ मेन्स हाइकिंग वॉटरप्रूफ़ शूज़

फ़ायदेनुकसान
हाई ऐंकलकुछ नहीं ( एक आदर्श जूता)
टिकाऊ और आरामदायक
वॉटरप्रूफ
हर तरह के रास्तों के लायक
स्थिर और सुरक्षित

क्वेशुआ एमएच 500

फ़ायदेनुकसान
दिखने में आकर्षकमिड ऐंकल
टिकाऊ और आरामदायक
वॉटरप्रूफ
हर तरह के मौसम और रास्तों के लायक
कम वजन

वर्ग 3 – ₹ 5000-7000 तक

कोलंबिया मेन्स रेडमंड हाइकिंग शूज़

फ़ायदेनुकसान
अच्छी पकड़लो ऐंकल
पहनने में आरामदायक
तीन परत का वॉटरप्रूफ
हर तरह के रास्तों के लायक
स्थिर और सुरक्षित

कोलम्बिया मेन्स कॉर्डवन हाइकिंग बूट्स

फ़ायदेनुकसान
अच्छी पकड़कुछ नहीं (एक आदर्श जूता)
मजबूत और टिकाऊ
तीन परत का वॉटरप्रूफ
हर तरह के रास्तों के लायक
स्थिर और सुरक्षित

क्वेशुआ मेन्स हाइकिंग शूज़

फ़ायदेनुकसान
कच्चे रास्तों पर अच्छी पकड़कुछ नहीं (एक आदर्श जूता)
मजबूत और टिकाऊ
पूर्णतया वॉटरप्रूफ
हर तरह के रास्तों और मौसम में सक्रिय
कंकड़ पत्थर से सुरक्षित और स्थिर

ट्रेकिंग शूज़ से सम्बंधित कुछ आमतौर पर पूछे जाने वाले प्रश्न

1. ट्रेकिंग के लिए किस तरह के जूते पहने?

ट्रेकिंग के लिए अच्छी पकड़, मजबूत, टिकाऊ, आरामदायक और वॉटरप्रूफ जूता हो तो बेहतर होगा।

2. क्या रनिंग शूज़ से ट्रेकिंग कर सकते है?

हां कर सकते है, पर जब आप पथरीले या उबद खाबड़ रास्तों पर करेंगे तो आपको थोड़ा मुश्किल होगा। अतः मजबूत और अच्छी पकड़ वाले जूतों की सलाह दी जाती है।

3. हाईकिंग बूट या शूज़?

हाईकिंग शूज़ ही बेहतर है। क्योंकि बूट्स थोड़े भारी हो जाएंगे और चढ़ाव में दिक्कत का सामना करना पड़ेगा।

4. रनिंग शूज़ और ट्रेकिंग शूज़ में अंतर?

दोनों जूतों से ऑफरोड रास्तों पर जा सकते है। बस अंतर ये है कि ट्रेकिंग शूज़ थोड़े ज्यादा आरामदायक, टिकाऊ और पहाड़ों के पथरीले रास्तों पर भी अच्छी पकड़ देते हैं।

5. किस ब्रांड के जूते ज्यादा सही रहेगा?

मध्यम कीमत की बात करे तो आप वाइल्डक्राफ्ट, क्वेशुआ और एडिडास के साथ जा सकते है। उच्च कीमत की बात करे तो कोलंबिया, सलोमोन और नॉर्थ फेस की सलाह दूंगा।

6. क्या ट्रेकिंग शूज़ एक नंबर बड़ा लेना चाहिए?

हां, अपने सामान्य साइज से एक नंबर बड़ा ले ताकि थोड़ा आरामदायक हो।

7. क्या जूतों का वाटरप्रुफ होना आवश्यक है?

सूखे क्षेत्रों में तो कोई परेशानी नहीं होगी लेकिन बरसात और बर्फीले रास्तों में दिक्कत का सामना करना पड़ेगा।

8. क्या ट्रेकिंग शूज़ भारी होते है?

सामान्य जूतों से थोड़े भारी हो सकते है लेकिन इतने नहीं होते की आपको चलने में कोई भी दिक्कत हो। मजबूती, टिकाऊपन और आरामदायक बनाने के चक्कर में थोड़ा भार बढ़ जाता है।


निष्कर्ष

अंत में यहीं कहना चाहूंगा कि ट्रेकिंग शूज़ का चुनाव करते समय उपर्युक्त सभी बातो का गौर करना अति आवश्यक है। चूंकि आप अच्छा दाम दे रहे है तो बिल्कुल अच्छे किस्म के जूते चुनना पसंद करेंगे।

मैंने बड़ी ही बारीकी से निरीक्षण करने के बाद आपके लिए बेहतर से बेहतर जूतों को छांट के निकाला है। अगर फिर भी आपके मन में कोई प्रश्न उठ रहा है तो आप बेझिझक हमसे पूछे। हम आपकी सेवा में हमेशा तत्पर हैं।


Share this information with your friends:
Default image
Abhishek Singh

मैं अभिषेक सिंह नवाबों के शहर लखनऊ से हूं। मैं एक कंटेंट राइटर के साथ-साथ डिजिटल मार्केटर भी हूं | मुझे खाना उतना ही पसंद है जितना मुझे यात्रा करना पसंद है। वर्तमान में, मैं अपने देश, भारत की विविध संस्कृति और विरासत की खोज कर रहा हूं। अपने खाली समय में, मैं नेटफ्लिक्स देखता हूं, किताबें पढ़ता हूं, कविताएं लिखता हूं, और खाना बनाता हूँ। मैं अपने यात्रा ब्लॉग मिसफिट वांडरर्स में अपने अनुभवों और सीखों को साझा करता हूं।

Articles: 36

अपनी टिप्पणी या सुझाव दें